LTV Full Form in Hindi | LTV Ratio क्या होता है? [ जानिए ]

स्वागत है आपका हमारे Banking funda ब्लॉग पर तो दोस्तों आज हम बैंक में उपयोग किया जाने वाला संक्षिप्त शब्द LTV के बारेमे जानकारी लेने वाले है। इसमें हम LTV Full Form in Hindi और LTV Ratio Kya Hota hai? इसके साथ ही LTV Ratio Calculate करने का formula इसके बारेमे विस्तार में जानकरी लेने वाले है।

LTV Full Form in Hindi
LTV Full Form in Hindi

LTV Full Form in Hindi LTV का फुल फॉर्म क्या है?

LTV Full Form Loan to Value है। LTV के फुल फॉर्म को आप हिंदी में लोन-टू-वैल्यू ऐसे भी पढ़ सकते है।

ज्यादातर इस शब्द का उपयोग बैंक के व्यवहार में किया जाता है।

अगर आप भी बैंक से अपने घर खरीदने के लिए या नयी गाड़ी खरीदनेके लिए loan ले रहे है तो आपको इस शब्द की थोड़ी जानकरी जरूर होगी।

लेकिन कोई बात नहीं अगर आपको लोन-टू-वैल्यू के बरमे जानकारी नहीं है तो आपको इस पोस्ट में इसके बारेमे जानकारी मिल जाएगी। तो चलिए अभी LTV Ratio Kya Hota hai? इसके बरमे अधिक जानकारी देखते है।

LTV Ratio Kya Hota hai ?

जैसे की हमने बताय की LTV Ratio का उपयोग बैंक में loan देने के लिए किया जाता है।

Loan to Value ratio बहुत इम्पोर्टेन्ट factor है जिसके आधार पर बैंक आपको कितना loan दे सकता है इसका आकलन किया जाता है।

आपको Loan to Value ratio के ऊपर निर्भर होता है की आपको देने वाले loan की amount क्या होगी।

व्‍यक्ति को कितने फीसदी लोन दिया जाना है?

कोई भी व्यक्ति बैंक में Loan के जाते है तो उसे बहुत आसानीसे लोन नहीं दिया जाता है।

बैंक loan देने से पहले कई चीजों आकलन करती है उसके बाद ही आपके loan की राशि तय की जाती है।

loan दिने से पहले बैंक व्यक्ति का Loan to Value ratio निकलती है उसके लिए निचे दिए गए चीजों पर ध्यान दिया जाता है।

  • सबसे पहले बैंक देखती है की व्यक्ति सालाना इनकम (Annual Income) कितनी है।
  • उसके भी व्यक्ति का क्रेडिट स्‍कोर (Credit Score) देखा जाता है।
  • और आखिर में Loan to Value Ratio (लोन-टू-वैल्यू ) का आकलन किया जाता है।

ये तीन criteria देखने के बाद ही बैंक लोन कितना देना चाहिए इसकी राशि तय करती है।

इसके आलावा भी कई चीजे देखि जाती है जैसी की उम्र, के नौकरी करते है, आपने पहले लिए loan चुकाए है क्या? ये भी देखा जाता है।

LTV Ratio Calculate करने का फार्मूला

अभी हम देखते है की LTV Ratio Calculate कैसे करते है उसके लिए कोनसा फार्मूला है।

LTV Ratio के लिए सबसे पहले देखा जाता है की आप कितना अमाउंट उधार ले रहे है।

उसके बाद आप जो प्रॉपर्टी खरीद रहे है उसकी कीमत कितनी है।

और उसके बाद आपका LTV Ratio निकालता है।

(आपने कितनी अमाउंट उधार ली है) / (आपके प्रॉपर्टी की कीमत) X 100 = LTV Ratio

इस फार्मूला से आपको LTV Ratio कैसे निकाला जाता है इसके बारेमे जानकरी मिली होगी।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की LTV Ratio गाइडलाइन

जो भी बैंक लोन देती है उनके लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की गाइडलाइन है। जैसे की अगर घर की राशि 30 लाख और उससे काम है उसके लिए एलटीवी रेशियो 90% तक जा सकता है। ऐसे में व्यक्ति को 10% राशि अपने जेब से देने पड़ेगी। अगर घर खरीदने की रही 30 लाख से 75 लाख है तो इसमें एलटीवी रेशियो 80% और 75 से अधिक के कीमत के लिए एलटीवी रेशियो 75% तक रख सकते है।

ये भी पढ़े Best Zero Balance Saving Account

FAQ

होम लोन योग्यता के लिए बैंक में क्या देखा जाता है?

होम लोन योग्यता के लिए बैंक में आपकी उम्र, आपकी सालाना इनकम, आपका क्रेडिट स्कोर और कुल देता ये चीजे देखि जाती है।

60% LTV का मतलब क्या होता है?

इसका मतलब आपके घर की जितनी कीमत है उसके सिर्फ 60% ही आपको लोन मिल सकता है।
उदाहरण आपके घर की कीमत करोड़ है तो आपको 60 लाख का लोन बैंक की तरफ से मिल सकता है।

उम्मीद है दोसतो आपको LTV Full Form in Hindi और LTV Ratio Kya Hota hai? इसके बारेमे पूरी तरह से जानकारी मिली होगी।

Share on:

Leave a Comment